नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card रजिस्ट्रेशन

[ad_1]

NREGA Job Card List online at nrega.nic.in | नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट | नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट ऑनलाइन कैसे देखे | NREGA Job Card List 2021 | NREGA Card रजिस्ट्रेशन | Nrega new List

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट को अधिकारिक रूप से ऑनलाइन पोर्टल पर जारी कर दिया गया है | देश के जो इच्छुक लाभार्थी नरेगा कार्ड सूची तथा उस सूची में अपना नाम देखना चाहते है तो वह MGNREGA की Official Website पर जाकर आसानी से Online देख सकते है | केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही मनरेगा योजना (MNREGA Yojana) पूरी तरह से रोजगार पर केंद्रित एक सरकारी योजना है | NREGA Job Card List 2021 का उपयोग करके आप अपने गांव / शहर के लोगों की पूरी सूची देख सकते हैं जो आगामी वित्तीय वर्ष में MGNREGA के तहत काम करेंगे।

मनरेगा जॉब घोषणा- NREGA List

हमारे देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज की दूसरी किस्त की घोषणा गुरुवार को कर दी है इस घोषणा में वित् मंत्री जी ने कहा है कि मनरेगा जॉब योजना के अंतर्गत देश के जो प्रवासी मजदूर जो लॉक डाउन की वजह से अन्य दूसरे राज्य में फसे हुए थे और वह अब अपने गांव वापस लोट आये है उन वापस लौटने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए मनरेगा में रोजाना मिलने वाले 182 रूपये की रकम को बढ़ाकर 202 रुपए रोजाना कर दिया गया। इस योजना के तहत 14.6 करोड़ व्यक्ति दिवस कार्य 13 मई तक सरकार द्वारा किये गए है अर्थात 14.62 करोड़ कार्य दिवस का काम 13 मई 2020 तक उपलब्ध कराया गया है | इस कार्य के लिए 10000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया ताकि वापस आये प्रवासी मजदूरों को काम मिल सके।

मनरेगा जॉब

NREGA List 2021 – नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 (Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act 2005 MGNREGA) देश के गरीब परिवारों को नौकरी कार्ड प्रदान करता है  जिनमें जॉब कार्ड धारक या NREGA लाभार्थी द्वारा किए जाने वाले कार्यों की सभी जानकारी शामिल होती है | प्रत्येक वर्ष लाभार्थियों के लिए एक नया नरेगा कार्ड तैयार किया जाता है | अगर आप भी NREGA Job Card 2021  बनवाना चाहते है तो ऑनलाइन आवेदन कर सकते है | कोई भी उम्मीदवार जो नरेगा के योग्यता और मानदंड को पूरा करेगा  वह NREGA Job Card के लिए आवेदन कर सकता है।

श्रमिकों को प्रदान किया जाएगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

सरकार द्वारा अब श्रम संसाधन विभाग में रजिस्टर्ड श्रमिकों को आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रकार की हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम है। जिसके माध्यम से प्रत्येक लाभार्थी परिवार को सालाना ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है। यह दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है। वह सभी श्रमिक जो पुल, पुलिया, भवनों समेत अन्य निर्माण कार्यों में निर्माण कर रहे हैं वह सभी लोग इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

  • इस बात की जानकारी आयुष्मान योजना के जिले कार्यक्रम समन्वयक कुमार प्रियरंजन द्वारा दी गई है। अब सभी निर्माण श्रमिकों को भी प्रतिवर्ष ₹500000 तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • सरकार द्वारा सभी श्रमिकों के लिए आयुष्मान कार्ड बनवाने की व्यवस्था भी आसान की जाएगी। कार्ड बनवाने के लिए श्रमिकों के पास लेबर कार्ड एवं आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • यह कार्ड योजना के अंतर्गत एंपेनल्ड सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में बनाया जा सकता है। इस योजना के सभी लाभार्थी सीएससी केंद्र के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं।

मनरेगा योजना के तहत छत्तीसगढ़ पहले स्थान पर

वित्तीय वर्ष 2020–21 के बजट में 13.50 करोड़ मानव दिन रोजगार उपलब्ध करवाने का लक्ष्य मनरेगा योजना के अंतर्गत निर्धारित किया गया था। यह लक्ष्य कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन के कारण ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के उद्देश्य से रखा गया था। वित्तीय वर्ष की शुरुआत के 3 महीनों में इस लक्ष्य का 66% हिस्सा हासिल कर लिया गया था। मनरेगा के अंतर्गत रोजगार देने में छत्तीसगढ़ देश में पहले स्थान पर है। छत्तीसगढ़ में वित्तीय वर्ष 2020–21 में 15 करोड़ मानव दिवस रोजगार सर्जित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसके विरुद्ध 150684000 मानव दिवस का रोजगार छत्तीसगढ़ में प्रदान किया गया है।

  • छत्तीसगढ़ में लगभग 107% से अधिक लक्ष्य छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मनरेगा के अंतर्गत प्राप्त किया गया है। पश्चिम बंगाल 105% का लक्ष्य प्राप्त करके दूसरे स्थान पर है, आसाम और बिहार 104% का लक्ष्य प्राप्त कर के तीसरे स्थान पर है तथा उड़ीसा 103% का लक्ष्य प्राप्त कर कर चौथे स्थान पर है।
  • मनरेगा मजदूरों को 2617 करोड़ रुपए से भी अधिक का भुगतान अब तक किया जा चुका है। छत्तीसगढ़ में बिलासपुर जिला मनरेगा के अंतर्गत रोजगार प्रदान करने में प्रथम स्थान पर है। बिलासपुर जिले में लक्ष्य का 131% से अधिक हिस्सा हासिल किया गया है। इस सफलता को देखते हुए सरकार से अनुरोध किया गया है कि आने वाले वित्त वर्ष में लक्ष्य को बढ़ाकर 15 करोड़ मानव दिवस कर दिया जाए।

NREGA Job Card List 2021 Highlights

योजना का नाम नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021
इनके द्वारा शुरू की गयी केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी सभी राज्यों के नरेगा जॉब कार्ड धारक
विभाग भारत के ग्रामीण विभाग सरकार का मंत्रालय
लिस्ट देखने का तरीका ऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट https://nrega.nic.in/netnrega/home.aspx

छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों में प्राप्त हुआ लक्ष्य

गौरेला, पेंड्रा, मरवाही 125%
कांकेर 119%
सुरगुजा 118%
जांजगीर चांपा 117%
दुर्ग और जशपुर 115%
रायगढ़ 110%
बालोद और दंतेवाड़ा 109%
कोरिया 108%
बेमेतरा, कुंडा गांव और रायपुर 107%
महासमुंद 106%
बलोदाबाजार, भाटापारा और कोरबा 105%
कबीरधाम, बीजापुर और मुंगेली 104%
गरियाबंद, धमतरी और सुकमा 102%
बलरामपुर, रमाणुजगंज 100%
राजनांदगांव और बस्तर 98%
सूरजपुर और नारायणपुर 96% सूरजपुर 95% नारायणपुर

बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

जैसे कि जानते हैं संपूर्ण देश में कोरोनावायरस संक्रमण चल रहा है। जिसको देखते हुए देश में लॉकडाउन लगाया गया था। अब धीरे-धीरे करके इस लॉकडाउन को खोला जा रहा है। इस लॉकडाउन के कारण देश में कई सारी फैक्ट्रियां, लघु उद्योग, दुकानें भी बंद हो गई थी। इस स्थिति में सरकार द्वारा ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के मजदूरों को नरेगा जॉब कार्ड के अंतर्गत लिया गया है। नरेगा योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को साल के 100 दिन काम प्रदान किया जाएगा। वह सभी लोग जिनका नाम बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में होगा वह रोजगार प्राप्त कर पाएंगे।

  • इस लिस्ट में अपना नाम देखने के लिए बिहार के नागरिकों को किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं है। वह घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अपना नाम बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में देख सकते हैं। इस सूची को ऑनलाइन उपलब्ध होने की वजह से समय और पैसे दोनों की बचत होगी।
  • बिहार नरेगा जॉब कार्ड केवल उन्हीं लोगों का बनाया जाता है जो आर्थिक रूप से बहुत कमजोर होते हैं और जिनके पास आएगा कोई साधन नहीं होता है। पहले मनरेगा के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिक ही काम कर सकते थे। लेकिन अब शहरी क्षेत्रों के नागरिक भी इस योजना के अंतर्गत रोजगार प्राप्त कर सकते हैं ।
  • मनरेगा जॉब कार्ड में आपके पूरे कार्य का विवरण किया होता है। वे सभी नागरिक जो बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट के अंतर्गत काम करेंगे उनके खाते में सरकार द्वारा उनके पैसे ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत में जाकर भी आवेदन किया जा सकता है। वह सभी बिहार के नागरिक जिन्होंने बिहार नरेगा जॉब कार्ड बनवाने के लिए आवेदन किया था वह अपना नाम आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में देख सकते हैं।

केरला नरेगा 2021

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा नरेगा योजना के अंतर्गत ग्रामीण परिवारों को एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिन का रोजगार प्रदान किया जाता है। नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट के माध्यम से लोगों की आजीविका सुरक्षा बढ़ती है। केरला में 1.2 मिलीयन लोग मनरेगा योजना के अंतर्गत कार्यरत है। अब नरेगा कामगारों के लिए एक महत्वकांक्षी योजना आरंभ करने की घोषणा की गई है। 3 फरवरी 2021 को यह घोषणा की गई है कि राज्य में मनरेगा कामगारों को पेंशन तथा चिकित्सा सहायता जैसे लाभ प्रदान किए जाएंगे। इसके लिए राज्य के गवर्नर से अध्यादेश जारी करने की सिफारिश की गई है।

  • इस नई योजना का लाभ उठाने के लिए मनरेगा कामगारों को प्रतिमाह ₹50 की कटौती अपनी वेतन से करवानी होगी। इसके अलावा मनरेगा कामगारों को त्यौहार भत्ता और अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। वह सभी श्रमिक जिनकी आयु 60 वर्ष से ज्यादा है और उन्होंने कम से कम 5 वर्ष तक इस नई योजना के अंतर्गत योगदान दिया है
  • वह इस योजना के लाभ के पात्र हैं। इस नई योजना के अंतर्गत मनरेगा कामगार के बच्चों को शैक्षिक सहायता और विवाह के लिए धन मुहैया कराने का काम भी किया जाएगा। मनरेगा योजना के अंतर्गत 75 वर्ष तक के नागरिक रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस नई योजना के माध्यम से मनरेगा कामगार सशक्त बनेंगे। वह सभी नागरिक जिनकी आयु 18 से 55 वर्ष के बीच है और वह मनरेगा कामगार है वह इस नई योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण करवा सकते हैं और अपना योगदान हर महीने या फिर वार्षिक आधार पर प्रदान कर सकते हैं। स्थानीय स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी सदस्यों को पासबुक जारी की जाएगी।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट राजस्थान

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं नरेगा योजना जिसको हम महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के नाम से जानते हैं के तहत 100 दिन का गारंटी रोजगार प्रदान किया जाता है। इस योजना को अब राजस्थान में भी लागू कर दिया गया है। अब राजस्थान के सभी नागरिक जो नरेगा योजना के अंतर्गत रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें अपना नरेगा जॉब कार्ड बनवाना होगा। यह जॉब कार्ड बनवाने के बाद राजस्थान के नागरिकों का नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट मैं नाम आ जाएगा। यह लिस्ट राजस्थान के नागरिक आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। इस योजना के माध्यम से अब राजस्थान में बेरोजगारी दर में गिरावट आएगी।

  • राजस्थान नरेगा जॉब कार्ड के अंतर्गत सभी कार्यों की सूची होगी। यह जॉब कार्ड केवल 1 वर्ष के नहीं वैध होता है। 1 वर्ष के बाद राजस्थान के नागरिकों को राजस्थान नरेगा जॉब कार्ड दोबारा बनवाना होगा। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए लाभार्थी की आयु 18 वर्ष होनी चाहिए तथा लाभार्थी राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत यदि आवेदक नौकरी कर रहा है तो वह इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर पाएगा। राजस्थान नरेगा जॉब कार्ड में जॉब कार्ड नंबर, आवेदक का नाम, गांव का नाम, पंचायत का नाम, ब्लॉक, जिला, जनपद, परिवार विवरण, बैंक का नाम आदि होता है।

झारखंड नरेगा 2021

मनरेगा योजना को भारत सरकार द्वारा श्रमिकों को एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिन का रोजगार प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया था। इस योजना का लाभ पूरे देश के श्रमिक उठा रहे हैं। जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा श्रमिकों की मजदूरी दर को ₹194 से बढ़ाकर ₹198 कर दिया गया है। झारखंड सरकार द्वारा भी यह निर्णय लिया गया है कि 1 अप्रैल 2021 से झारखंड में मनरेगा के अंतर्गत काम करने वाले श्रमिकों को झारखंड सरकार द्वारा ₹225 मजदूरी दर का भुगतान किया जाएगा। इस संबंध में ग्रामीण विकास मंत्रालय झारखंड द्वारा काम किया जा रहा है।

  • भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले निर्धारित मजदूरी दर एवं झारखंड सरकार द्वारा झारखंड के श्रमिकों को दिए जाने वाले मजदूरी दर जो कि ₹225 है के बीच का अंतर की राशि झारखंड सरकार द्वारा वहन की जाएगी।
  • अब झारखंड के प्रत्येक श्रमिक को कुल ₹225 प्रति मानव दिवस की दर से मजदूरी का भुगतान किया जाएगा। ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार से झारखंड सरकार द्वारा मनरेगा सॉफ्ट में आवश्यक संशोधन करने के लिए भी अनुरोध किया गया है। जिसके लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा काम किया जा रहा है।

झारखंड मनरेगा से आस मनरेगा से विकास अभियान

झारखंड में मनरेगा को रफ्तार प्रदान करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग द्वारा एक विशेष अभियान का संचालन किया जाएगा। जिसका नाम मनरेगा से आस मनरेगा के विकास है। इस अभियान को 22 सितंबर 2021 को लांच किया जाएगा। यह अभियान 15 दिसंबर 2021 तक चलेगा। जिसके तहत 150 प्रखंडों में मनरेगा से जुड़े कार्यों पर फोकस किया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत संबंधित प्रखंडों की प्रत्येक पंचायत में लगभग 5000 दिवस मानव कार्य दिवस का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

  • ग्रामीण से आस मनरेगा के विकास अभियान को ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम द्वारा लांच किया जाएगा। पंचायत स्तर पर श्रमिक 100 दिन का रोजगार इस अभियान के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे।
  • मनरेगा में महिलाओं, अनुसूचित जाति एवं जनजाति की भागीदारी बढ़ाने पर भी काम किया जाएगा। ग्राम पंचायत एवं क्लस्टर स्तर पर रोजगार दिवस का नियमित तौर पर आयोजन भी किया जाएगा। जिसके लिए रोजगार सेवक और पंचायत सचिव जॉब कार्ड के आवेदन फॉर्म के साथ उपस्थित रहेंगे।
  • इस योजना की ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों स्तरों पर मॉनिटरिंग की जाएगी। प्रत्येक जिले व प्रखंड में कार्यशाला का भी आयोजन किया जाएगा एवं सरकार द्वारा जागरूकता अभियान का भी संचालन किया जाएगा।

नरेगा योजना के अंतर्गत क्या कार्य नहीं किए जा सकते

नरेगा योजना के अंतर्गत सभी अकुशल कामगारों को रोजगार उपलब्ध करवाया जाता है। इस योजना के माध्यम से प्रत्येक लाभार्थी को एक वित्तीय वर्ष में 100 दिन का रोजगार निश्चित मुहैया कराया जाता है। इस योजना के माध्यम से जरूरतमंद परिवारों को सामाजिक सुरक्षा के रूप में रोजगार प्राप्त होता है। इस योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के कार्य करवाए जाते हैं। जैसे कि सामाजिक बिल्डिंग निर्माण, सड़क निर्माण, फॉर्म फॉरेस्ट्री आदि। वह सभी काम जिन्हें मापा नहीं जा सकता और उन्हें बार-बार करवाने की आवश्यकता पड़ती है वह काम इस योजना के अंतर्गत नहीं करवाए जा सकते हैं। जैसे कि घास को बार-बार निकालना, कंकड़, कृषि कार्य कटाई आदि।

महात्मा गांधी मनरेगा योजना के अंतर्गत किए जाने वाले कार्य

इस योजना के अंतर्गत सभी प्रकार के कार्यों को चार प्रमुख श्रेणियों में बांटा गया है जो कि कुछ इस प्रकार है:–

श्रेणी ए की गतिविधियां– इस श्रेणी में सभी प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन से संबंधित सार्वजनिक कार्य आते हैं। जैसे कि जल संरक्षण रचनाएं, जलग्रहण प्रबंधन, सूक्ष्म एवं छोटे सिंचाई संरचना कार्य, परंपरागत जल स्त्रोत व पुनजीबीकरण, वनीकरण, शामलात भूमि पर भूमि विकास कार्य और चारागाह विकास।

बी श्रेणी की गतिविधियां– श्रेणी बी में कमजोर वर्ग के लिए व्यक्तिगत परिसंपत्तियों सर्जन करना, आजीविका का विकास करना, पड़त और ऊसर भूमि का विकास करना, इंदिरा आवास योजना में 90 अकुशल श्रम दिवस कार्य भुगतान, पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए ततथ मछली पालन को बढ़ावा देना के लिए भौतिक संसाधन का निर्माण करना आदि जैसे काम आते हैं।

श्रेणी सी की गतिविधियां– श्रेणी सी में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह के लिए भौतिक संसाधन सर्जन कार्य जैसे कि कृषि उत्पादकता बढ़ाना, बायोफर्टिलाइजर के लिए संरचना, कृषि उत्पादन के लिए भंडारण हेतु पक्का कार्य करने जैसे निर्माण करवाए जाएंगे।

श्रेणी डी की गतिविधियां–  श्रेणी सी के अंतर्गत ग्रामीण भौतिक संसाधन से संबंधित कार्य जैसे कि ग्रामीण स्वच्छता कार्य, बारहमासी सड़क जुड़ाव, खेल मैदान का निर्माण कार्य, आपातकालीन प्रबंधन एवं रेस्टोरेशन कार्य, भवन निर्माण कार्य आदि जैसे कार्य करवाए जाएंगे।

नरेगा मेट से संबंधित जानकारी

वह व्यक्ति जो नरेगा के जॉब कार्ड धारकों को कार्य पर लगाता है तथा उसे उसके टास्क के अनुसार मजदूरी दिलाने में सहायता करता है। नरेगा मेट ग्राम पंचायत से जुड़ा होता है। ग्राम पंचायत मेट के कार्य को आगे बढ़ाती है। नरेगा मेट का कार्य केवल वही व्यक्ति कर सकता है जो स्थानीय स्तर पर रहता है एवं लोगों की मदद करने के लिए हर टाइम उपलब्ध रहता है। मेट के द्वारा पंचायत में हो रहे सभी कार्यों का रिकॉर्ड भी रखा जाता है। इसके अलावा मेट के द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाता है कि सभी कामगारों को काम करने के लिए सभी महत्वपूर्ण सुविधाएं प्राप्त हो रही हैं या नहीं।

नरेगा मेट का चयन एवं पात्रता

Nrega मेट का चयन अधिकारियों द्वारा किया जाता है। जिसके लिए अधिकारियों द्वारा जिला स्तर पर विज्ञापन जारी किया जाता है। सभी आवेदक द्वारा आवेदन पत्र ग्राम पंचायत में जमा किए जाते हैं। आवेदनों का सत्यापन कर के ग्राम पंचायत द्वारा मेट की भर्ती की जाती है। ग्राम पंचायत में मेट की संख्या ग्राम पंचायत में नरेगा कामगारों की संख्या पर निर्भर करती है। नरेगा मेट यदि पुरुष है तो वह कम से कम आठवीं पास होना चाहिए। यदि मेट महिला है तो महिला आठवीं पास होनी चाहिए। यदि आठवीं पास महिला नहीं मिलती है तो महिला पांचवी पास होनी चाहिए।

नरेगा मेट के लिए प्राथमिकता बीपीएल, विधवा, परित्यक्ता, एकल, विकलांग, एससी, एसटी एवं पिछड़े वर्ग के नागरिकों को प्राप्त होगी। कम से कम 50 श्रमिकों पर एक मेट का नियोजन किया जाएगा। यदि श्रमिक 50 से अधिक है तो प्रति 10 श्रमिकों पर एक अतिरिक्त मेट का नियोजन किया जाएगा।

कर्तव्य नरेगा मेट

  • यह सुनिश्चित किया जाता है कि कार्यस्थल पर सभी महत्वपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध है या नहीं।
  • मेट के द्वारा पक्के कार्यों की गुणवत्ता की देखरेख भी की जाती है।
  • श्रमिकों को प्रतिदिन कार्य को पूरा करने के लिए प्रेरित करने की जिम्मेदारी भी मेट के द्वारा निभाई जाती है।
  • श्रमिकों के काम का मापन भी नरेगा मेट के द्वारा किया जाता है।
  • नरेगा मेट ही श्रमिकों को कार्य का आवंटन करता है।
  • इसके अलावा दिन प्रतिदिन के विभिन्न प्रकार के कार्य भी नरेगा मेट के माध्यम से किए जाते हैं।

 नरेगा बीएसआर

बेसिक शेड्यूल आफ रेट्स और बीएसआर के अंतर्गत मनरेगा के अंतर्गत आने वाले सभी प्रकार के कार्यों के रेट्स होते हैं। बीएसआर के माध्यम से श्रमिकों द्वारा किए जाने वाले कार्यों का मूल्यांकन किया जा सकता है। बीएसआर में मिट्टी के प्रकार, लीड, लिफ्ट आदि जैसी चीजों को आधार मानकर कार्य का मूल्यांकन किया जाता है। सरकार द्वारा सभी सिविल कामों का एस्टीमेट बनाकर एक उचित दर का निर्णय लिया जाता है। हर ब्लॉक का अपना अलग-अलग बीएसआर होता है क्योंकि प्रत्येक ब्लॉक की मिट्टी अलग होती है।

सरकार द्वारा समय-समय पर बीएसआर की दर को भी संशोधित किया जाता है। यह शेड्यूल सरकार द्वारा एक गठित समिति के माध्यम से बनाया जाता है। यह समिति पंचायत स्तर पर काम करती है। इस समिति का अध्यक्ष जिला कलेक्टर होता है तथा सीईओ, जिला परिषद, डीआरडीओ के वरिष्ठ अभियंता, सिंचाई विभाग, पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ परियोजना अधिकारी इस समिति के सदस्य होते हैं।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कुछ मुख्य बातें

  • नरेगा योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के प्रत्येक नागरिक तक रोजगार पहुंचाना है। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक नरेगा जॉब कार्ड धारक को 100 दिन का सुनिश्चित काम एक वित्त वर्ष में प्रदान किया जाता है।
  • भारत सरकार द्वारा मनरेगा योजना को पिछले 14 वर्ष से संचालित किया जा रहा है। इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना में भारत सरकार द्वारा 1.3 करोड़ नए नरेगा जॉब कार्ड श्रमिकों को प्रदान किए गए हैं तथा इस योजना के अंतर्गत इस वर्ष 1 करोड़ परिवारों ने नरेगा योजना के अंतर्गत काम किया है।
  • पिछले वर्ष नरेगा योजना के अंतर्गत एक परिवार का औसतन रोजगार 48 दिन था जो की अब 41 दिन हो गया है। नवंबर 30, 2020 तक 17 लाख परिवारों ने 100 दिन का रोजगार पूरा कर लिया है लेकिन पिछले वर्ष नवंबर तक 40.6 लाख परिवारों ने काम पूरा कर लिया था।केंद्र सरकार द्वारा 30 नवंबर 2020 तक आधिकारिक वेबसाइट के हिसाब से 324 करोड़ परसोंडे आवंटित किया गया है।
  • वर्तमान समय में इस योजना के अंतर्गत काम देने की प्रक्रिया एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से संचालित की जाती है जिसका नाम सिक्योर है।

नरेगा के अंतर्गत बढ़ाया गया वेतन

केंद्र सरकार द्वारा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण योजना के अंतर्गत अकुशल श्रमिकों को प्रदान किए जाने वाले वेतन में वृद्धि की गई है। पहले नरेगा के अंतर्गत ₹209 प्रतिवर्ष वेतन मिलता था जो अब बढ़कर ₹303.40 कर दिया गया है। सरकार सुंदरगढ़ जिले मिनिरल संस्थान फंड से यह अतिरिक्त राशि प्रदान करेगी। कोविड-19 की वैश्विक महामारी को देखते हुए नरेगा के अंतर्गत नौकरियों को बढ़ाए जाने पर सरकार द्वारा जोड़ दिया जा रहा है। जिससे कि श्रमिकों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

मनरेगा में यूपी के नए 46 हजार मजदूरों को दिया जायेगा रोजगार

जैसे की आप जानते है कि केंद्र सरकार देश के श्रमिकों को रोजगार दिलाने का हर संभव प्रयास कर रही है। इसी प्रयास को आगे बढ़ाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने इस मनरेगायोजना के अंतर्गत तहत एक नयी घोषणा की है इस घोषणा में योगी सरकार ने पंचायत चुनाव से पहले मनरेगा के तहत 46 हजार नए कर्मियों को तैनात करने का फैसला लिया है। इस योजना के अंतर्गत इन 46 हज़ार में से 25 हज़ार महिलाओ को रोजगार दिया जायेगा | इस योजना के तहत 25 हज़ार महिलाओ को मेट का काम दिया जायेगा। मेट के के कार्य में महिलाओ को मनरेगा में शामिल मजदूरों की हजिरी और कार्य की रिपोर्ट करनी होगी। इस कार्य के महिलाओ को हर महीने यूपी सरकार द्वारा 7200 रूपये दिए जायेगे और 21 हज़ार रोजगार सेवकों को 6 हजार रुपये की धनराशि प्रति माह प्रदान की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में मनरेगा योजना का बजट दोगुना किया गया

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार ने बजट को दोगुना करने का निर्णय लिया है। जिससे कि गांव के ज्यादा से ज्यादा लोग रोजगार से जुड़ सके हैं। उत्तर प्रदेश पूरे देश का पहला ऐसा राज्य बना है जिसने इस योजना के बजट को दोगुना किया है। पहले नरेगा योजना का बजट 8500 करोड़ रुपए था जिसे अब बढ़ाकर 15000 करोड रुपए कर दिया गया है। अब इस योजना के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों को काम मिल पाएगा। पिछले वर्ष सबसे ज्यादा मनरेगा के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में रोजगार प्रदान किए गए थे। इस योजना के अंतर्गत लगभग 85 लाख परिवारों के 1 करोड़ 4 लाख 70 हजार से ज्यादा श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया गया है। वर्ष 2019-20 में 53.15 लाख परिवारों को काम मिला था जिसकी तुलना में इस वर्ष लगभग 32 लाख परिवारों की बढ़ोतरी हुई है।

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 100 दिन काम करने वाले 20 लाख से अधिक श्रमिकों को श्रम विभाग में पंजीकरण किया जाएगा। इन पंजीकृत परिवारों को सरकार की श्रमिकों के लिए चलाई जा रही 17 योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा। जिससे कि 20 लाख श्रमिकों के जीवन में बदलाव आएगा।
  • पंजीकरण के बाद श्रमिकों के लिए चलाई जा रही कुछ खास योजना जैसे श्रमिक मेधावी छात्र पुरस्कार योजना, शिशु हित लाभ योजना, कन्या विवाह योजना, आवास सहायता योजना, भोजन सहायता योजना आदि का लाभ प्रदान किया जाएगा।

यूपी के मनरेगा मजदूरों को घर बैठे मिलेगा काम

शासन द्वारा यह शिकायत प्राप्त हो रही थी कि सेक्रेटरी तथा रोजगार सेवक अपने मर्जी से मजदूरी दे देते थे। इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए शासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अब यूपी में मनरेगा मजदूरों को घर बैठे काम मिलेगा। घर बैठे काम प्राप्त करने के लिए मजदूरों को केवल एक s.m.s. भेजना होगा। अब मनरेगा मजदूरों को किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। शासन द्वारा दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके वह काम प्राप्त कर सकते है । उत्तर प्रदेश में 1128 ग्राम पंचायत है जिसमें 2,33,989 मनरेगा मजदूर पंजीकृत है। सभी पंजीकृत मजदूरों के द्वारा रोजगार की मांग लखनऊ कार्यालय में दर्ज होगी इसके बाद शासन द्वारा काम देने के लिए दिशा निर्देश जिले को भेज दिए जाएंगे और उसके बाद मजदूरों को काम मिल जाएगा।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

अब कोई भी मजदूर इस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके काम प्राप्त कर सकता है।  इस योजना के अंतर्गत प्रवासी मजदूर भी इन्हीं नंबरों पर संपर्क करके काम प्राप्त कर सकते हैं। मनरेगा मजदूरों को ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत, जिला पंचायत तथा अन्य विभागों में काम प्रदान किया जाएगा। हेल्पलाइन नंबर 9454464999 तथा 9454465555 है।

यूपी मनरेगा मजदूरों के लिए आवास, पेंशन तथा चिकित्सा लाभ

अब उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मनरेगा मजदूरों को भी निर्माण श्रमिकों के कल्याण के लिए संचालित की गई 15 योजनाओं के लाभ पहुंचाए जाएंगे। यह फैसला उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया है। यह लाभ उन मजदूरों को मिलेगा जिन्होंने 1 वर्ष में काम से कम 90 दिन मनरेगा के अंतर्गत कार्य किया है। सरकार द्वारा सभी लाभार्थियों की सूची तैयार की जा रही है और सभी लाभार्थी मजदूरों को कल्याण बोर्ड में पंजीकृत किया जाएगा। मनरेगा मजदूरों को निर्माण श्रमिकों के लिए संचालित 15 योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाएगा। सभी मनरेगा श्रमिकों का विवरण मनरेगा पोर्टल से कर्मकार कल्याण बोर्ड के पोर्टल पर ऑनलाइन भेजा जाएगा। इन सुविधाओं में आवास, शौचालय, पेंशन, चिकित्सा आदि जैसी सुविधाएं शामिल की गई है। इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित 15 योजनाओं का लाभ मनरेगा कामगारों को प्रदान किया जाएगा।

  • शौचालय सहायता योजना
  • आवास सहायता योजना
  • कामगार गंभीर बीमारी सहायता योजना
  • कौशल विकास तकनीकी प्रमाणन एवं उन्नयन योजना
  • विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना
  • निर्माण कामगार अंत्येष्टि सहायता योजना तथा निर्माण कामगार मृत्यु
  • मेधावी छात्र पुरस्कार योजना
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
  • कन्या विवाह सहायता योजना
  • मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना
  • सौर ऊर्जा सहायता योजना
  • महात्मा गांधी पेंशन सहायता योजना
  • आवासीय विद्यालय योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना

अब तक यूपी में 1.32 लाख जॉब कार्ड धारकों ने किया काम

वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक 1.32 जॉब कार्ड धारकों ने मनरेगा के अंतर्गत 100 दिन काम कर लिया है। इस समय लगभग 20 लाख मनरेगा मजदूर विभिन्न प्रकार के कार्य कर रहे हैं तथा 31 मार्च तक 90 दिन काम करने वाले मनरेगा मजदूरों की संख्या बढ़ जाने की उम्मीद विभाग द्वारा जताई जा रही है। नोडल विभाग द्वारा 31 मार्च 2021 तक 20 लाख परिवारों को 100 दिन काम देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

यूपी में प्रतिदिन लगभग 50,000 श्रमिकों को प्रदान किया जाएगा कार्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कोरोनावायरस महामारी के कारण श्रमिक वर्ग को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ा है। श्रमिकों को आजीविका के संकट का सामना भी करना पड़ रहा है। इस स्थिति में सभी श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मनरेगा जैसी योजनाएं संचालित की जा रही है।

  • मनरेगा योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि जनपद फिरोजाबाद में एक विशेष अभियान का संचालन किया जाएगा जिसके अंतर्गत 50,000 से अधिक श्रमिकों को प्रतिदिन कार्य प्रदान किया जाएगा। यह अभियान 30 जून 2021 से आरंभ होगा। इस विशेष अभियान के माध्यम से श्रमिकों को अधिक आजीविका के अवसर प्राप्त होंगे। इस अभियान को सफल बनाने के लिए समस्त ग्राम प्रधानों द्वारा श्रमिकों को प्रत्येक ग्राम में मनरेगा कार्य पर लगाने के लिए अनुरोध किया जा रहा है।
  • इस अभियान की शुरुआत विकासखंड शिकोहाबाद के ग्राम पंचायत गलामई से की जाएगी। विकास खंड से जुड़े सभी विभागों के अधिकारियों की नियमित बैठक जूम मीटिंग के माध्यम से आयोजित की गई जिसमें प्रतिदिन 50000 श्रमिकों को मनरेगा कार्य दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इस योजना के अंतर्गत अब तक किसी भी वित्तीय वर्ष में 1 दिन में 36 हजार से ज्यादा श्रमिकों को कार्य नहीं दिया गया है। इस वर्ष इस विशेष अभियान के तहत प्रतिदिन 50,000 से अधिक श्रमिकों को कार्य दिए जाने की तैयारी की जा रही है।

मनरेगा श्रमिकों का किया जाएगा श्रम विभाग में पंजीकरण

उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में नरेगा योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा दोहरा लाभ प्रदान करने की योजना बनाई जा रही है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को रोजगार के साथ श्रम विभाग में पंजीकरण का भी लाभ प्रदान किया जाएगा। वह सभी श्रमिक जिन्होंने इस योजना के अंतर्गत 80 से 100 दिन तक काम किया है उन्हें श्रम विभाग में पंजीकृत किया जाएगा। सभी पंजीकृत श्रमिकों को श्रम विभाग की ओर से संचालित सभी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा। जिले में लगभग 1.82 लाख मनरेगा श्रमिक हैं। जिन्हे 100 दिन का रोजगार प्रदान किया जाता है।

  • जिले के सभी मनरेगा श्रमिकों का श्रम विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करवाया जाएगा। इस बात के निर्देश जिला प्रशासन द्वारा दिए गए हैं। जिला प्रशासन द्वारा ही सभी मनरेगा मजदूरों का डाटा तैयार किया जाएगा।
  •  इस डाटा को श्रम विभाग को प्रदान किया जाएगा। श्रमिक किसी कॉमन सर्विस सेंटर या फिर खुद भी श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना पंजीकरण कर सकते हैं।

श्रम विभाग में पंजीकरण उपरांत मनरेगा श्रमिक उठा सकेंगे इन योजनाओं का लाभ

श्रम विभाग में पंजीकरण करवाने के लिए श्रमिकों को सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा करने होंगे। सरकार द्वारा श्रमिकों की मदद के लिए विभिन्न प्रकार की योजना भी संचालित की जाती है। जैसे कि शिशु हितलाभ, मातृत्व हितलाभ, बालिका मदद, अक्षमता पेंशन, मृत्यु तथा दिव्यांगजन सहायता आदि। इन सभी योजनाओं का लाभ श्रम विभाग में पंजीकृत मनरेगा श्रमिकों को प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा श्रमिकों की बेटियों को स्कूल जाने के लिए साइकिल भी उपलब्ध करवाई जाती है।

  • श्रमिकों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत बीमार होने पर ₹500000 का कवर, मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत मृत्यु होने पर आश्रित को ₹200000 की आर्थिक सहायता आदि योजनाओं का लाभ भी प्रदान किया जाएगा।
  • श्रम विभाग पर पंजीकरण करने के बाद मनरेगा श्रमिक भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। इस योजना के तहत 45 प्रकार के असंगठित क्षेत्र के कामगारों जैसे कि धोबी, दर्जी, माली, मोची, बुनकर, जुलाहा, रिक्शा चालक, कूड़ा बीनने वाला, ठेला चलाने वाला, पथ विक्रेता, कुली, पशुपालन, मत्स्य पालन, मुर्गी पालन आदि पात्र होंगे।

बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा प्रतिवर्ष नरेगा लिस्ट अपडेट की जाती है। नरेगा योजना का लाभ संपूर्ण भारत के ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में प्रदान किया जाता है। बिहार राज्य में भी मनरेगा योजना का लाभ प्रदान किया जाता है। बिहार के वह सभी नागरिक जिन्होंने नरेगा जॉब कार्ड बनवाने के लिए आवेदन किया है वह नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना नाम चेक कर सकते हैं। नाम चेक करने के लिए नागरिकों को किसी भी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

  • वह घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अपना नाम देख सकते हैं।  सभी लाभार्थियों की सूची सरकार द्वारा ऑनलाइन जारी कर दी गई है।
  • इस योजना के अंतर्गत साल के 365 दिनों में से 100 दिन रोजगार प्रदान किए जाने का प्रावधान है। जिसकी पेमेंट सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में की जाती है।
  • वह सभी लाभार्थी जो बिहार में रहते हैं और मनरेगा कार्ड बनवाने के लिए आवेदन किया है वह हमारे द्वारा प्रदान की गई प्रक्रिया को फॉलो करता अपना नरेगा जॉब कार्ड बनवा सकते हैं। बिहार के सभी नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

नरेगा रोजगार कार्ड लिस्ट 2021

NREGA Job Card List 2021 के तहत प्रत्येक वर्ष गांव तथा शहर के नए लोगो को जोड़ा जाता है और कुछ योग्यता मानदंडों के आधार पर हटा भी दिए जाते हैं | NREGA जॉब कार्ड सूची  पिछले 10 वर्षों से 2009 -10 से 2018-2019 तक देश भर में 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए उपलब्ध है। इस List को देखने के साथ साथ आप इसे डाउनलोड भी कर सकते है और रोजगार के अवसर प्राप्त करने के लिए इसका  इस्तेमाल भी कर सकते है | आज हम आपको बतायेगे कि आप किस प्रकार इस नरेगा रोजगार कार्ड लिस्ट 2021 को किस तरह ऑनलाइन देख सकते है और  आप एनआरईजीए जॉब कार्ड की राज्यवार सूची डाउनलोड करने के लिए सरल चरणों का पालन कर सकते हैं।

मनरेगा योजना का इतिहास

नरेगा योजना पीवी नरसिम्हा राव की सरकार के द्वारा सन् 1991 में प्रस्तुत की गई थी। इसके बाद इस योजना को दोनों पार्लियामेंट से मंजूरी मिली थी और नरेगा योजना को पूरे भारत की 625 जिलों में आरंभ किया गया था। नरेगा योजना को वर्ल्ड डेवलपमेंट रिपोर्ट 2014 में प्रकाशित किया गया था। जिसमें यह बताया गया था कि इस योजना के माध्यम से अकुशल श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जाता है। इस योजना के माध्यम से कि बहुत सारे रोजगार के अवसर उत्पन्न होते हैं। नरेगा योजना को वर्ल्ड बैंक ने ग्रामीण विकास का उत्कृष्ट उदाहरण बताया है।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट उद्देश्य

जॉब कार्ड के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को हर वर्ष न्यूनतम 100 दिन की गारंटी रहित कुशल रोजगार प्रदान किया जाता है। जिसके माध्यम से बेरोजगार लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार आता है और वह आत्मनिर्भर बनते हैं। नरेगा जॉब कार्ड ऑनलाइन उपलब्ध होने के वजह से अब लोग घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से  अपना नरेगा जॉब कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं और नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में अपना नाम भी देख सकते हैं।

नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध सुविधाएं

  • जॉब कार्ड के लिए आवेदन
  • नरेगा जॉब कार्ड डाउनलोड
  • लेबर पेमेंट का स्टेटस
  • नरेगा के अंतर्गत किए जाने वाले कार्यों की जानकारी
  • कंप्लेंट

MGNREGA Job Card

केंद्र महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी (MGNREGA) योजना अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और विधवाओं के सबसे कमजोर परिवारों को स्थिर आय सुनिश्चित करता है। ग्रामीण विकास मंत्रालय ने देश सभी राज्यों को मनरेगा के तहत व्यक्तिगत-मजदूर लाभार्थी कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया है, जिसमें खाद के गड्ढे खोदना, आम के पेड़ लगाना या कृषि क्षेत्रों में मरम्मत कार्य, कुओं की खुदाई और मरम्मत कार्य शामिल हैं ।ग्रामीण विकास मंत्रालय,ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब परिवारों को महात्मा गांधी जॉब कार्ड के वितरण के लिए जिम्मेदार है। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी अधिनियम 2005, जिसे पहले महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के रूप में जाना जाता था, जो देश के गरीब लोगों के लिए उपकरण है जिसके द्वारा वे श्रम कार्य करके पैसा कमा सकते हैं।

नरेगा जॉब कार्ड 2021

इस कार्ड में भारत सरकार हर गांव हर शहर के गरीब परिवारों को जोड़ा जाता है । जो भी सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता को पूरा करता है उन्ही नागरिको को जॉब कार्ड प्राप्त होता है। देश के गरीब लोग इस मनरेगा कार्ड को ऑनलाइन डाउनलोड भी कर सकते है । नरेगा जॉब कार्ड योजना से कई गरीब परिवारों को रोजगार मिलता है। जिससे की वे अपनी आर्थिक स्थिति सुधार सके। यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत आते है तो आप अपना नाम नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021 तो चेक कर सकते है ।इस योजना के अंतर्गत देश की वित् मंत्री के कहा है की सरकार अब रोजगार प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए मनरेगा को अतिरिक्त 40,000 करोड़ रुपये आवंटित करेगी। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) के लिए पहले बजट अनुमान 61,000 करोड़ रुपये था।

नरेगा जॉब कार्ड

महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MANREGA Job )

इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने एक घोषणा की है । योगी आदित्य नाथ जी ने इस योजना के तहत उन सभी मजदूरो को नौकरी देने का फैसला किया है जो राज्य के बाहर से आए हैं। प्रमुख सचिव (ग्रामीण विकास), मनोज सिंह के अनुसार, लॉकडाउन के बाद गांवों में युवाओं के प्रवास से आर्थिक संकट की स्थिति पैदा हो गई है, जिसे MGNREGA के तहत युवाओं के लिए रोजगार प्रदान करके हल किया जा सकता है। MGNREGS के तहत नौकरी मांगने वाले युवाओं को तुरंत उनके गाँव में जॉब कार्ड दिए जाएंगे । अगर किसी व्यक्ति का नाम किसी परिवार के जॉब कार्ड मे नहीं जुड़ा हुआ है, तो उसे जोड़ा जाएगा।राज्य सरकार 20 अप्रैल के बाद केंद्र के सभी आवश्यक दिशानिर्देशों का पालन करेगी जब निर्माण गतिविधि फिर से शुरू होगी।

नरेगा जॉब कार्ड अकाउंट बैलेंस देखने की प्रक्रिया

अभी नरेगा के अंतर्गत अकाउंट बैलेंस देखने की कोई भी प्रक्रिया नहीं है। यदि सरकार द्वारा अकाउंट बैलेंस चेक करने की कोई भी प्रक्रिया आधिकारिक वेबसाइट पर सक्रिय की जाएगी तो हम आपको इस लेख के माध्यम से जरूर सूचित करेंगे। इसके लिए आपको हमारे इस लेख से जुड़े रहना होगा।

नरेगा जॉब कार्ड पेमेंट प्रक्रिया

सभी अकुशल श्रमिकों को नरेगा के अंतर्गत काम प्रदान किया जाता है। जिसके लिए उन्हें पेमेंट की जाती है। यह पेमेंट डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के माध्यम से सीधे श्रमिक के बैंक अकाउंट पर भेजी जाती है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी का बैंक या पोस्ट ऑफिस में खाता होना अनिवार्य है और यदि लाभार्थी का अकाउंट नहीं है तो वह नरेगा जॉब कार्ड को दिखा कर अपना अकाउंट खुलवा सकता है। ग्राम पंचायत के द्वारा नरेगा की पेमेंट कैश के माध्यम से भी की जाती है। कैश के माध्यम से केवल उन्हीं इलाकों में पेमेंट की जाती है जहां पर बैंक या पोस्ट ऑफिस की सुविधा उपलब्ध नहीं है। कैश के माध्यम से नरेगा पेमेंट लेने के लिए राज्य सरकार से अनुमति लेना अनिवार्य है।

मनरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में मुख्य तथ्य

  • ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार को मनरेगा के रूप में भी जाना जाता है, जो ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब परिवारों को महात्मा गांधी जॉब कार्ड के वितरण के लिए जिम्मेदार है ।
  • जॉब कार्ड को लोग मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड कर सकते है या देखा जा सकता है।
  • मनरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021 में केवल अपना नाम चेक करके आसानी से जॉब कार्ड सूची डाउनलोड कर सकते हैं।
  • नरेगा जॉब कार्ड सूची व्यक्ति द्वारा प्राप्त किए गए कार्य के कार्यकाल से संबंधित जानकारी प्रदान करती है।
  • यदि सरकार आवेदन की तिथि से 15 दिनों के भीतर कार्य प्रदान करने में असमर्थ है, तो सरकार आवेदक को रोजगार भत्ता का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी है।
  • देश के लोग कही से भी कभी भी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से नरेगा योजना जॉब कार्ड से संबंधित विवरणों की जांच कर सकते है ।

नरेगा के अंतर्गत किए जाने वाले कार्य

  1. गौशालानिर्माण कार्य
  2. वृक्षारोपणकार्य
  3. आवासनिर्माण कार्य
  4. मार्गनिर्माण कार्य
  5. चकबंध कार्य
  6. सिंचाईकार्य आदि

Nrega Rojgar Card 2021 के लाभ

  • इस नरेगा रोजगार कार्ड लिस्ट को देखने के लिए कही जाने की आवश्यकता नहीं है अब आप घर बैठे इंटरनेट के ज़रिये ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन देख सकते है |
  • आप इस लिस्ट को डाउनलोड भी कर सकते है और रोजगार के अवसर प्राप्त करने के लिए इसका इस्तेमाल भी कर सकते है |
  • इस कार्ड में नरेगा रोजगार कार्ड धारक के सभी लाभार्थियों का संपूर्ण विवरण होता है प्रतिवर्ष, प्रत्येक लाभार्थी के लिए नया नरेगा जॉब कार्ड प्रदान किया जाता है |
  • इस योजना का लाभ लाभ देश के सभी राज्यों के लाभार्थी उठा सकते है |

नरेगा की वेबसाइट पर क्या-क्या जानकारी देखी जा सकती है?

NREGA की साइट पर काफी सारी जानकारियां देखी जा सकती हैं जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • नरेगा वेबसाइट के माध्यम से लेबर पेमेंट का स्टेटस चेक किया जा सकता है।
  • नरेगा वेबसाइट से नरेगा के अंतर्गत आने वाले कार्यों के लिए आवेदन किया जा सकता है।
  • इस वेबसाइट के माध्यम से उन सभी लोगों का नाम देखा जा सकता है जिनके जॉब कार्ड बने हैं।
  • नरेगा वेबसाइट पर जाचा जा सकता है कि ग्राम पंचायत में नरेगा के अंतर्गत हुए कार्यों में किस व्यक्ति की कितनी मजदूरी लगी है।
  • नरेगा के अंतर्गत कराए गए सभी कार्यों का विवरण नरेगा वेबसाइट के माध्यम से देखा जा सकता है।
  • NREGA Website पर ग्राम पंचायत का मास्टर रोल भी चेक किया जा सकता है।

मनरेगा जॉब कार्ड की पात्रता

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे ज्यादा होनी चाहिए।
  • आवेदक अकुशल श्रम के लिए स्वयंसेवक होना चाहिए।
  • राशन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

युक्तधारा पोर्टल का शुभारंभ

20 अगस्त 2021 को भारत सरकार द्वारा एक नया स्थानिक नियोजन पोर्टल का शुभारंभ किया गया है। इस पोर्टल का नाम युक्तधरा है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह द्वारा इस पोर्टल से संबंधित जानकारी प्रदान की गई है। जिसमें यह बताया गया है कि यह पोर्टल रिमोट सेंसिंग एवं भौगोलिक सूचना प्रणाली आधारित डाटा का उपयोग करेगा। यह डाटा संपत्तियों को सुविधाजनक बनाने में मदद करेगा। इस पोर्टल के माध्यम से जियो टैगिंग भी की जाएगी। जो कि विभिन्न राष्ट्रीय ग्रामीण विकास कार्यक्रमों में मददगार साबित होगी।

  • इस पोर्टल का उपयोग रिमोट सेंसिंग एवं जीआईएस आधारित जानकारी का उपयोग करने में भी किया जा सकता है।
  • पोर्टल पर नरेगा सॉफ्ट से लिंकेज एडवांस स्टेज पर अप्रूवल आदि जैसी सुविधाएं भी जल्द लॉन्च की जाएगी।
  • इस पोर्टल को ग्राम पंचायत द्वारा जल्द प्रयोग किया जा सकेगा।

नरेगा जॉब कार्ड सूची 2021 ऑनलाइन कैसे देखे / डाउनलोड कैसे करे?

जो इच्छुक लाभार्थी नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021 में अपना नाम देखना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे |

  • सर्वप्रथम आपको MGNREGA की Official Website पर जाना होगा | ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
  • इस होम पेज पर आपको Reports का एक ऑप्शन दिखाई देगा | आपको Job Card ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको एक ऑप्शन दिखाई देंगे आपको State Wise के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इस पेज पर आपको भारत से सभी राज्यों के नाम आ जायेगे | आपको जिस भी प्रदेश की सूची देखनी है उस पर क्लिक करे |
  • क्लिक करने के बाद आपको अगले पेज पर कुछ जानकारी भरनी होगी | जैसे financial year, district block,पंचायत आदि का चयन करना होगा  | सभी जानकारी भरने के बाद आपको Proceed के बटन पर क्लिक करना होगा |
NREGA Card
  • बटन पर क्लिक करने के बाद आपके समाने अगला पेज खुलेगा | इस पेज पर आपको Job Card number /employed registration के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपके सामने पूरी लिस्ट खुल जाएगी | इसके पश्चात आपके सामने लिस्ट खोज जाएगी इस लिस्ट में आपको अपने नाम के आगे कार्ड नंबर पर क्लिक करना होगा |
NREGA Card
  • नंबर पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आपकी पूरी जानकारी आ जाएगी और आप इस लिस्ट को देखने के साथ साथ यही से डाउनलोड भी कर सकते है |

नरेगा रोजगार कार्ड लिस्ट 2021

प्रोजेक्ट उन्नति लॉगिन करने की प्रक्रिया

प्रोजेक्ट उन्नति लॉगिन
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने लॉगइन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • आपको इस लॉगइन फॉर्म में अपना मोबाइल नंबर, पासवर्ड तथा सिक्योरिटी कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप प्रोजेक्ट उन्नति लॉगिन कर पाएंगे।

स्टेट वाइज मनरेगा यूजर रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

स्टेट वाइज मनरेगा यूजर रिपोर्ट
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप स्टेट वाइज जन्मनरेगा यूजर रिपोर्ट देख सकते हैं।

स्टेट डाटा एंट्री रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

स्टेट डाटा एंट्री रिपोर्ट
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • यूज़र आईडी
    • सिक्योरिटी कोड
  • अब आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको व्यू स्टेट डाटा एंट्री रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

डाटा एंट्री लोगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डाटा एंट्री के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • फाइनेंशियल ईयर
    • यूजर आईडी
    • सिक्योरिटी कोड
  • इसके पश्चात आप को सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप डाटा एंट्री लॉगिन कर पाएंगे।

डाटा एंट्री यूजर आईडी रिकवर करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको डाटा एंट्री के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • आपको इस पेज पर फॉरगेट यूजर आईडी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • मोबाइल नंबर
    • ईमेल आईडी
  • इसके पश्चात आपको प्रोसीड के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी user-id आपकी ईमेल आईडी एवं रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दी जाएगी।

डाटा एंट्री पासवर्ड रिकवर करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डाटा एंट्री के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • अब आपको फ़ॉरगोट पासवर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना राज्य, user-id, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, सिक्योरिटी कोड तथा ओटीपी दर्ज करना होगा।
  • अब आपको प्रोसीड के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर तथा ईमेल आईडी पर पासवर्ड रीसेट करने की लिंक भेज दी जाएगी।
  • आप इस लिंक पर क्लिक करके अपना पासवर्ड रिसेट कर सकते हैं।

EFMS रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको EFMS रिपोर्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Nrega Job Card
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप EFM रिपोर्ट देख सकते हैं।

नरेगा जॉब कार्ड के आवेदन कैसे करे – NREGA Card Registration

देश
के जो इच्छुक लाभार्थी
अपना मनरेगा जॉब कार्ड बनाने
के लिए आवेदन करना
चाहते है तो वह
नीचे दिए गए तरीके
को फॉलो करे |

  • सर्वप्रथम आवेदक को मनरेगा की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
नरेगा जॉब कार्ड
  • इस होम पेज पर आपको Gram Panchayat का सेक्शन दिखाई देगा आपकी इस सेक्शन में से Data Entry के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
नरेगा जॉब कार्ड
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको अपना स्टेट को चुनना होगा | स्टेट चुनने के बाद एक नया पेज खुलकर आ जायेगा |
  • इसके बाद आपके सामने लॉगिन फॉर्म खुल जायेगा | इस फॉर्म में आपको Financial Year , District , Block , Panchayat , User ID ,Password ,कैप्चा कोड आदि को चुनना होगा |
  • इसके बाद आपको लॉगिन बटन पर क्लिक करना होगा |
  • लॉगिन करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको Registration & Job Card के विकल्प पर क्लिक करना होगा |
  • क्लिक करने के बाद आपको आपको BPL Data के विकल्प पर क्लिक करना होगा |  विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आ जायेगा |
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे गांव , परिवार के मुखिया का नाम , मकान संख्या , वर्ग , पंजीकरण की तारीक, आवेदक का नाम ,लिंक ,आयु आदि भरनी होगी |
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको save के बटन पर क्लिक करना होगा | सेव करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको आपका रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जायेगा और फिर आपको अपनी फोटो अपलोड करनी होगी |

Geo मनरेगा देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको यहां दी गई लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट
  • आपको इस पेज पर निम्नलिखित कैटेगरी का चयन करना होगा।
    • फाइनेंशियल ईयर
    • डिस्ट्रिक्ट
    • सब कैटिगरी
  • जैसे ही आप इन कैटिगरीज का चयन करेंगे संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

FTO Generate करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Status Of FTO Entry के लिंक पर क्लिक करना होगा।
Nrega FTO Generation
  • इसके पश्चात आपके सामने सभी राज्यों की सूची खुलकर आएगी।
  • आपको इस सूची में से अपने राज्य के अंतर्गत दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी जैसे की यूजर आईडी, पासवर्ड तथा सिक्योरिटी कोड आपको दर्ज करना होगा।
  • अब आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको जनरेट एफ टी ओ के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे एफ टी ओ जनरेट हो जाएग।

FTO/बैंक रिस्पांस पेंडिंग फॉर प्रोसेसिंग रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको FTO/बैंक रिस्पांस पेंडिंग फॉर प्रोसेसिंग के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको संबंधित जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • FTO/बैंक रिस्पांस पेंडिंग फॉर प्रोसेसिंग रिपोर्ट आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

FTO ट्रैक करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको ट्रैक FTO के लिंक पर क्लिक करना होगा।
Narega job card list
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप FTO नाम या रेफरेंस नंबर या ट्रांजैक्शन नंबर भरकर सर्च कर सकते हैं।
  • इस प्रकार FTO स्टेटस आपकी स्क्रीन पर होगा।

पेमेंट परफॉर्मेंस डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको पेमेंट परफॉर्मेंस डैशबोर्ड के लिंक पर क्लिक करना होगा।
Payment Proformance
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा इसमें आपको मोबाइल नंबर, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप लॉगिन के बटन पर क्लिक करेंगे पेमेंट परफॉर्मेंस डैशबोर्ड आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा।
  • इसके बाद सेव फोटो में क्लिक करके इसे सेव कर लेंगे | इसके बाद जब कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड करके ले सकते है |

नरेगा पेमेंट की डिटेल ऑनलाइन चेक कैसे करें

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट पेमेंट की डिटेल ऑनलाइन तीन चरणों में चेक की जा सकती हैं। जो कि कुछ इस प्रकार है।

जॉब कार्ड विवरण से वेज लिस्ट नंबर कॉपी करना

  • सर्वप्रथम आपको नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको ट्रांसपेरेंसी एंड अकाउंटेबिलिटी के सेक्शन में जॉब कार्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी का चयन करना होगा।
    • फाइनेंसियल ईयर
    • डिस्ट्रिक्ट
नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट
  • अब आपको प्रोसीड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर जॉब कार्ड नंबर की सूची खुल कर आएगी।
  • आपको अपने जॉब कार्ड नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • स्पेस पर आपको मस्टर रोल नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको दोबारा से वही मस्टररोल नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना वेज लिस्ट नंबर देख सकते है।
  • आपको इस नंबर को कॉपी करना होगा।

वेज लिस्ट जेनरेटेड डेट को ढूंढो

एमआईएस रिपोर्ट
  • इसके बाद आप को वेरीफाई कोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको फाइनेंशियल ईयर एवं राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • अब आपको मस्टररोल एंड वेजलिस्ट के सेक्शन के अंतर्गत E – मस्टर रोल एंड वेजलिस्ट रिपोर्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने ब्लॉक का चयन करना होगा।
  • अब आपको कॉलम नंबर 12 पर जेनरेटेड वेजलिस्ट नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको वेज लिस्ट नंबर पेस्ट करना होगा।
  • अब आप यहां से वेज लिस्ट डेट कॉपी कर सकते हैं।

एफटीओ डिटेल्स

  • आपको एक बार फिर नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपको रिपोर्ट फॉर एमआईएस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको कैप्चा कोड दर्ज करके वेरीफाई कोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको फाइनेंशियल ईयर तथा स्टेट का चयन करना होगा।
  • अब आपको e-FMS रिपोर्ट्स के सेक्शन में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको एफटीओ स्टेटस रिपोर्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपने डिस्ट्रिक्ट एवं ब्लॉक का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको कॉलम नंबर 6 में अपने FTO नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको सिग्नेटरी डेट का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपनी वेज लिए जनरेटर डेट के बाद के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना जॉब कार्ड नंबर पोस्ट करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

नरेगा जॉब कार्ड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको अपने मोबाइल फोन में गूगल प्ले स्टोर खोलना होगा।
  • अब आपको सर्च बॉक्स में नरेगा सर्विसेज मोबाइल ऐप एंटर कर कर सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
नरेगा जॉब कार्ड
  • आपके सामने नरेगा मोबाइल ऐप खुल कर आ जाएगा।
  • आपको इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • नरेगा मोबाइल ऐप आपके फोन में डाउनलोड हो जाएगा।

ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पर खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको पब्लिक ग्रीवेंस के सेक्शन में लॉज ग्रीवेंस के लिंक पर क्लिक करना होगा।
नरेगा जॉब कार्ड
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा। जिसमें पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपके जिले का नाम, ब्लॉक का नाम, गांव का नाम, कंप्लेंट की जानकारी आदि भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के पश्चात आपको सेव के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको एक रेफरेंस नंबर दिया जाएगा जिससे आप अपने कंप्लेंट का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

जन्मनरेगा एप का फीडबैक देखने की प्रक्रिया

जन्मनरेगा एप का फीडबैक
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर ऑफ जन्मनरेगा ऐप का फीडबैक देख सकते हैं।

कंप्लेंट डिटेल चेक करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पर खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको गिरी व्यास के सेक्शन में चेक रेडर्ससाल ऑफ ग्रीवेंस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपनी कंप्लेंट आईडी भरनी होगी और प्रोसीड के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
नरेगा जॉब कार्ड
  • आपकी कंप्लेंट डिटेल आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होंगी।

महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MGNREGA) भुगतान प्रक्रिया

नरेगा जॉब कार्ड के अंतर्गत भुगतान कार्ड धारक के बैंक खाते में किया जाएगा। यह भुगतान उसी बैंक खाते में किया जाएगा जो जॉब कार्ड में उल्लिखित है। यदि मनरेगा के अंतर्गत काम करने वाले व्यक्ति का बैंक अकाउंट नहीं है तो उसे अपना बैंक अकाउंट खुलवाना अनिवार्य है। कभी-कभी भुगतान कैश में भी किया जाता है। कैश भुगतान केवल उसी स्थिति में किया जाएगा जब बैंक या पोस्ट ऑफिस के माध्यम से भुगतान करना संभव नहीं होगा।

कुछ महत्वपूर्ण लिंक्स- Nrega

Contact Information

हमने अपनी इस लेख के माध्यम से आपको नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या ई मेल करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 1800111555 है।



[ad_2]

Leave a Comment